ऐ !भावी भारत के नव कर्णधार

 



 


ऐ !भावी भारत के नव कर्णधार। 


ऐ !युवा शक्ति  नवसृजन कार  ।


तेरे कंधों पर देखो  ऋणअपार ।


है तुमसे ही आशा अब लगातार।


 तुम ही हो राष्ट्रधर्म के सूत्रधार।


 तुमको पालन करने हैं सारे संस्कार ।


 मां बहनों के रक्षक तुम होनहार।


 पूर्ण तुम्हें करने अपनों के सपने हजार ।


ऐ !भावी भारत के नव कर्णधार।


ऐ ! युवा शक्ति नवसृजन कार।


 सुषमा दीक्षित शुक्ला


Popular posts
अस्त ग्रह बुरा नहीं और वक्री ग्रह उल्टा नहीं : ज्योतिष में वक्री व अस्त ग्रहों के प्रभाव को समझें
Image
सफेद दूब-
Image
परिणय दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
Image
गाई के गोवरे महादेव अंगना।लिपाई गजमोती आहो महादेव चौंका पुराई .....
Image
भोजपुरी भाषा अउर साहित्य के मनीषि बिमलेन्दु पाण्डेय जी के जन्मदिन के बहुते बधाई अउर शुभकामना
Image