ग़ज़ल

 


 




आप मेरे करीब आओ तो,
हाल दिल का मुझे सुनाओ तो।।
×××××
बेवफाई बड़ी बुरी शै है,
बा वफ़ा हो जरा दिखाओ तो।।
×××××
चाँद से भी हसीन लगता है,
मेरे महबूब को बुलाओ तो।।
×××××
शबनमी शब तो ढल गयी यारा,
गुनगुनी सहर का मजा लो तो।।
×××××
आज आया है एक तूफां सा ,
नाव को पार भी लगाओ तो।। 
×××××
जानते हैं सभी हकीकत ये,
लाख तुम शोर भी मचाओ तो।।
××××÷
स्वर्ग सी है जमीन भारत की आप मेरी ज़मीं पे आओ तो।।
×××××
फूल कितने खिले हैं गुलशन में ,
लाल कोई गुलाब लाओ तो ।।
×××××
आप कुत्ते तो पालते होंगे ,
आदमी  पाल कर दिखाओ तो ।।
×××××
--विद्याभूषण मिश्र "भूषण"--
~~~~~~~~~~~~~~~~~


Popular posts
अस्त ग्रह बुरा नहीं और वक्री ग्रह उल्टा नहीं : ज्योतिष में वक्री व अस्त ग्रहों के प्रभाव को समझें
Image
ठाकुर  की रखैल
Image
गाई के गोवरे महादेव अंगना।लिपाई गजमोती आहो महादेव चौंका पुराई .....
Image
पीहू को जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं
Image
भोजपुरी भाषा अउर साहित्य के मनीषि बिमलेन्दु पाण्डेय जी के जन्मदिन के बहुते बधाई अउर शुभकामना
Image